Colitis in Hindi (आंत की सूजन) – Colitis ke Lakshan (हिंदी में)

दोस्तों, हमारे ब्लॉग Hindisolutiions में आपका स्वागत है| आज की हमारी इस पोस्ट में आपको Colitis in Hindi के बारे ने जानकारी देंगे | यह बीमारी आज आम सी हो गई है और आज किसी को भी हो सकती है यह कोई बड़ी बीमारी नहीं है परन्तु यह आगे चलकर शरीर को ज्यादा हानि पंहुचा सकती है | आज की हमारी इस पोस्ट में हम आपको Colitis से सम्बन्धित सारी जानकारी देंगे |

Colitis kya Hai

दोस्तों कोलाइटिस पेट की एक बीमारी है जिसके होने पर  पेट की  बड़ी आंत में सूजन आ जाती है। इसे अल्सरेटिव कोलाइटिस भी कहा जाता है। इसके लक्षणों को जानकर आप इसकी पहचान आसानी से कर सकते हैं। इसके होने पर पेट में ऐंठन, दर्द, दस्‍त , या एक से अधिक बार दस्त का आना , पेट में दर्द बना रहना बुखार, वजन घटना और अनिद्रा आदि  आम लक्षण होते है |

यह भी देखे: Pregnancy Ke Lakshan Hindi me

कोलाइटिस को अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) भी कहते हैं। यह बीमारी जल्‍दी भी हो सकती है और इसमें कई साल भी लग सकते हैं। यह बीमारी ज्‍यादातर बैक्‍टीरिया, वायरस या परजीवी के अतिक्रमण से होती है। यह एब्टामीवा नामक कीटाणु के संक्रमण से होती है। इस बीमारी में आपको केवल घर का बना साफ खाना ही खाना चाहिये। धुली और अच्‍छी तरह से पकी हुई सब्‍जी का सेवन करने से इसपर रोक लगाई जा सकती है। इस बीमारी में सैलेड और हाई फाइबर वेजटेबल न खाएं।

Ulcerative Colitis kya Hai(आंत की सूजन)

दोस्तों Ulcerative colitis भी colitis का हे रूप है इसके अन्दर कोलाइटिस लम्बे समय तक बनी रहने वाली बड़ी आंत (कोलन) में सूजन आ जाती है जो कभी कभी  गुदा और आंत की परतों में सूजन और घाव, जिन्हें अलसर या छाले भी कहते हैं, उत्पन्न करती है। यह इंफ्लेमेटरी बोवेल डिजीज (inflammatory bowel disease) का एक रूप है। साधारणतया ये आंत के निचले हिस्से (सिग्मोइड कोलन) और गुदा को प्रभावित करती है, लेकिन ये पूरी आंत को प्रभावित कर सकती है।

Colitis ke Lakshan

यहाँ हम आपको इसके कुछ सामान्य और असामन्य लक्षण बता रहे है जिनसे Colitis की आसानी से पहचान की जा सके |

बुखार

इस समस्या में आपको अचानक तेज गर्मी का एहसास हो सकता है और फिर बुखार हो जाना भी कोलाटिस का सामान्य लक्षण है।

दस्त

इस समस्या में रोगी को दस्त यानि बार-बार शौच के लिए जाना पड़ सकता है। आम दस्त के अलावा शौच में खून आना भी कोलाइटिस के लक्षणों में शामिल हैं। अगर आपको एक से अधिक बार शोच जाना पड़ता हे तो आपको यह बीमारी हो सकती है |

पानी की कमी

कोलाइटिस की स्थिति में शरीर में पानी की कमी हो जाती है, ऐसे में रोगी को ज्यादा से ज्यादा पान पीने और ग्लूकोज पिलाने की सलाह दी जाती है। इसकी वजहा से बच्चो और बुढो में पानी की ज्यादा कमी होती है |

वजन में कमी

कोलाइटिस से ग्रसित व्यक्ति के वजन में कमी आ जाती है और कमजोरी के अलावा शरीर में पोषण की कमी होना भी इसमें आम है। इसके अन्दर धीरे धीरे व्यक्ति का वजन कम होने लगता है |

पेट में दर्द

इसके अन्दर पेट के बाएं हिस्से में दर्द बना रहता है और  पेट में  ऐंठन होना कोलाइटिस का एक प्रमुख लक्षण है। अगर आपको इस तरह की कोई समस्या होती है, तो डॉक्टर को अवश्य दिखाएं।

कमजोरी

इसके अन्दर ज्यादा समय तक बीमारी रहने पर शरीर में धीरे धीरे कमजोरी आने लगती है और शरीर दुर्बलता का शिकार होता चला जाता है |

Colitis ka Treatment

दोस्तों हम आपको इस बीमारी से बचने के कुछ लक्षण बताएँगे जिनसे आप इस बीमारी से आसानी से निजात पा सकते है |

  • कोलाइटिस एक प्रकार की संक्रमणकारी बीमारी है इससे बचने के लिए साफ-सफाई पर विशेस ध्‍यान देना बहुत जरूरी है। अन्यथा यह बढती जाती है |
  • अगर कोलाइटिस का निदान पहले हो चुका है तो चिकित्‍सक से सलाह लेकर इसका उपचार शुरू कर सकते हैं।
  • Colitis में डायरिया की शिकायत होती है इसलिए आप खूब सारा पानी पिये |
  • घर का बना खाना ही खायें बाहर के खाने से बचें। खानपान में अनियमितता के कारण यह समस्‍या होती है इसलिए हेल्‍दी आहार ले |
  • ज्यादा तले भुने हुए भोजन का सेवन करने से बचे |
  • शराब का सेवन ना करे यह आपके रोग को और अधिक बाढा सकता है |
  • ज्यादा तकलीफ होने पर चिकत्सक की सलाह लेवे |
  • ज्यादा मात्र में बेसन से बनी हुई चीजो को ना खाए |
  • खाना खाने के बाद ठंडी छाछ का सेवन करे |

तो दोस्तों आज की हमारी यह पोस्ट Colitis in hindi , Colitis ke lakshan ,Colitis ka treatment , Ulcerative colitis kya hai  आपको केसी लगी हमे जरुर Comment करके जरुर बताये और कोई भी अन्य तरह की बीमारी के बारे में जानकारी चाहते हे तो आप वह भी हमे कमेन्ट करके बता सकते है| उसकी आपको जल्द ही जानकारी दी जाएगी |

धन्यवाद 🙂

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *