communication skill in hindi

Communication Skill Kaise Badhaye?(हिंदी में)

नमस्ते दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग Hindisolutions में आज हम आपको Communication Skills in Hindi के बारे में बताएँगे जिसके द्वारा आप अपनी Skills को बढ़िया बना सकते हैं दोस्तों अगर आप society (समाज) में अपना सर ऊँचा करके गर्व और शान से अपनी जिन्दगी व्यतीत करना चाहते हैं तो आज के समय में आपके पास बढ़िया communication skills होना बहुत ज्यादा ज़रूरी है |
आपके पास बढ़िया communication skills के गुण होंगे तो  हर एक व्यक्ति आपकी personality की तरफ आकर्षित होगा | good communication skills आपकी हर तरह की सफलता को लगातार बढाती है। अच्छी communication skills होना आपको हर जगह सफलता  देता है फिर चाहे वो आपकी personal life हो या profetional |

communication skill Kya Hai

दोस्तों सबसे पहले हम आपको communication skill क्या होता हे इसके बारे में बतायेगे | Communication basically दो लोगो के बीच में अलग-अलग तरीकों (जैसे कि लिख कर, इशारों से, बोल, बातचीत कर आदि) द्वारा signals या messages के transfer को कहा जाता है यह एक ऐसा तरीका भी है जिसे हम अपने रिश्तों को बनाने और modify करने के लिए use करते हैं | इसका उपयोग आप अपने व्यापर को बढ़ने से लेकर अपने निजी जीवन की बेहतर बनाने तक के लिए कर सकते है |

Communication Skill Badhane ke Tarike

दोस्तों आपको हम यह पर कुछ ऐसे तरीके बतायेगे जीनके द्वारा आप अपनी skill को सुधार सकते है |

eye contact बनाए

दोस्तों चाहे आप बोल रहें हो या सुन रहें हो यदि आप व्यक्ति की आँखों में देख रहें हो जिनसे आप बात कर रहें हैं, उससे आपकी interaction कही ज्यादा सफल होती है आँखों का संपर्क आपके partner में interest और उत्साह पैदा करता है कि वह भी बदले में आप में interest ले |

बात करने का तरीका

Communication skills में बात करने का तरीका बहुत अधिक मायने रखता है क्योंकि इससे सामने खड़े होने वाला व्यक्ति हमेशा ही इम्प्रेस होता है । हमेशा याद रखें छोटे – छोटे शब्दों को कहने की बजाया कहावतों का प्रयोग करें या बड़े वाक्य कहें । मगर ऐसा हमेशा नहीं करें क्योंकि अगर ऐसा ज्यादा करेंगे तो सामने वाले व्यक्ति पर इसका नकारात्मक असर भी हो सकता है |

शब्दों को सही तरीके से रखने का तरीका

अपने शब्दों इशारों और facial expressions (चेहरे के हाउ-भाव) को एक ही टोन में रखें इन सब में एक symmetry होनी चाहिए उद्धरण के लिए यदि आपको एक negative message देना है तो उसी हिसाब से अपने सारे expressions को करना पड़ेगा और वह भी एक साथ कुछ शब्दों से कई गुना ज्यादा body language (शरीर की भाषा) बोलती है  आपके शरीर के अंदाज़ से ही पता लग जाता है कि आपका क्या करने का मन है  यदि आप अपने शरीर को कुछ इस तरह act करें कि आप सभी को सुनने के लिए तैयार हैं या बताने के लिए तयार हैं तो वो आपकी communcation skill का एक plus point होगा और उससे आपकी skill devlop होगी |

सुनना और समझना

दोस्तों एक कहावत हमेशा ही हम सभी ने सुनी होगी । कि एक अच्छा पढऩे वाला ही अच्छा लिख सकता है और एक अच्छा सुनने वाला ही  अच्छा बोल सकता है  इसलिए हमेशा कुछ भी बोलने से पहले सामने वाले की बात गौर से सुने और समझें । उसके बाद ही आपनी बात रखे |

Attitude और feelings पर गौर करें

जो आपका communication skills में attitude और behavior (स्वभाव) होगा उसका आपकी बात चीत के मुद्दे पर बहुत अधिक असर पड़ेगा ईमानदारी, शांति, आशावादी, संस्कारी आदि होने के गुण आपके स्वभाव को और ऊँचा उठाते है और आपकी communication skill को बेहतर बनाते हैं | इसलिए अपनी इन skills पर जरुर गोर करे और इन्हें और अधिक improw करे |

Intelligent Questioner (बुद्धिमान प्रश्नकर्ता)

प्रश्न करना बातचीत का एक अहम पहलु होता है। इसके द्वारा हमें ज्ञान हो जाता है कि सामने वाला हमारी बातों में रुचि दिखा रहा है। सही समय पर सही प्रश्न पूछना एक बड़ा गुण है, ये दर्शाता है कि न आप एक अच्छे श्रोता है, बल्कि आप वक्ता को ध्यान से सुनकर उसका सम्मान भी करते हैं। यदि आपको कोई बात जाननी है तो प्रश्न कीजिये।यदि आपको सामने वाले की मन की स्थिति समझनी है तो प्रश्न कीजिये। यदि आपको अपनी बातों पर हाँ या ना कहलवाना है तो प्रश्न कीजिये। यदि आपको सामने वाली की अपेक्षाएं या समस्याओं से रूबरू होना है तो प्रश्न कीजिये। यह आपकी communication skill को सुधारेगा और आपकी पर्सनालिटी को भी लोगो के सामने बढायेगा |

प्वाइंट टू प्वाइंट बात करें

एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि हमेशा प्वाइंट टू प्वाइंट बात करें । जो आपके लिए और सामने वाले दोनों के लिए आसान होगा इस दौरान यह भी याद रखें कि अगर आप एक बच्चे के साथ बात करते हैं तो अलग तरह के कम्यूनिकेशन का सहारा लें वहीं ऑफिस आदि में आप प्रोफेशनल कम्यूनिकेशन स्किल्स का सहारा लें । इनका दोनों जगह पर अलग अलग मायने होते है |

बॉडी लैंग्वेज का ध्यान रखे

सही कम्यूनिकेशन के लिए दो सबसे जरूरी चीजें यह हैं कि आप अपने Body language का हमेशा ध्यान रखें और दूसरी तरफ अपने स्वभाव को हमेशा शांत बनाए रखें । अपने आप को जज करते हुए देखें कहीं ऐसा तो नहीं है कि आप बोल तो कुछ रहे होते हैं और आपका बॉडी लैंग्वेज कह कुछ और रहा हो । वहीं हमेशा शांत और सहज बने रहने की कोशिश करें, कई बार हम शांत और सहज नहीं बने रह सकते तो हमेशा ध्यान रखें कि इस समय शब्दों का चयन हमेशा करेक्ट रहे ।

शब्दों का सही उच्चारण करें

आपकी वोकैब्युलरी के आधार पर लोग आपकी क्षमता का अनुमान लगायेंगे। जिन शब्दों के उच्चारण के बारे में संदेह हो उन्हें इस्तेमाल न करें। प्रतिदिन नये शब्द पढ़कर अपनी वोकैब्युलरी बढ़ायें।

अपनी voice को डेवेलप करें

दोस्तों ऊँची और व्हाइनी वॉयस रोब वाली नहीं मानी जाती है। वास्तव में ऊँची और सॉफ्ट वॉयस की वजह से हो सकता है आपके को-वर्कर्स आपको कमज़ोर समझें या आपकी बात सीरियसली न लें। अपनी वॉयस की पिच नीची करने के लिए आप उसका अभ्यास करे और उसे सुधारे यह  आपकी communication skill को और बेहतर बनाएगा |

Conclusion

तो दोस्तों में उम्मीद करता हु की आपको हमारी पोस्ट Communication Skill in Hindi पसंद आई होगी और इससे आपकी Communication Skill काफी अच्छी हो जायेगी, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो हमे Comment Box में Comment करके जरूर बताये और अपने दोस्तों से शेयर करना ना भूले |

धन्यवाद् 🙂

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *