sugar kya hai

Sugar Kya Hai? (Diabetes in Hindi) – शर्करा उपचार (हिंदी में) | Hindi Solutions

नमस्ते दोस्तों , में शेखर कुमावत आपका हमारे ब्लॉग Hindisolutions में स्वागत करता हूँ, इस पोस्ट में हम आपको यह बतायेंगे की Sugar kya hai और शुगर को मधुमेह और डायबिटीज के नाम से भी जानते है | आजकल की भागदोड भरी जिन्दगी में व  अनियमित जीवनशेली के कारण बहुत लोग शुगर से प्रभावित है |
अगर हम भारत की बात करे तो यहाँ हर 5 में से 1 व्यक्ति को यह बीमारी है अब आगे हम Sugar in Hindi बताते है, कुछ समय पूर्व यह बीमारी उम्रदराज लोगो में ही देखने को मिलती थी परन्तु आज  इस बीमारी ने बड़े से लेकर बच्चो को अपनी गिरफ्त में  ले रखा है और शुगर से पीड़ित रोगियों की संख्या समय के साथ बढती जा रही है | अगर आपको शुगर के लक्षण, Diabetes ko kaise khatm kiya jaye और शुगर होने पर क्या करे और क्या न करे ,यह जानने के लिए हमारी पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहिये |

Sugar kya hai

जब व्यक्ति के शरीर में खून के अन्दर ग्लूकोस की मात्रा अधिक हो जाती तो इसे शुगर कहा जाता है | शुगर हमारे शारीर में खून के अन्दर मौजूदा ग्लूकोस की मात्रा होती है | एक स्वस्थ व्यक्ति के शारीर में यह मात्रा भूखे पेट 70 से 100 mg रहती है और वही खाना खाने के बाद यह मात्रा बढकर 120 से 140 mg हो जाती है और यही शारीर की सामान्य प्रक्रिया होती है |

जरूर पढ़े: Pregnancy Symptoms in Hindi – प्रेगनेंसी के लक्षण (हिंदी में)

यह बीमारी औरतो में कम और पुरुषो को ज्यादा होती है और इस बीमारी के कारण आपको कई अन्य बीमारियाँ भी हो सकती है | अगर यह बीमारी किसी व्यक्ति को एक बार हो जाये तो उसे यह जीवन भर रहती है ,यह एक प्रकार का श्राप है |

Types of Sugar

आइये अब हम बात करते है Diabetes के प्रकार की अगर आपको शुगर हुई है तो आपका यह भी जानना जरूरी है की आपको किस प्रकार की शुगर हुई है | शुगर सामान्यतः दो प्रकार की होती है Type 1 Diabetes एवं Type 2 Diabetes |

Type 1 Diabetes

अगर यह बीमारी किसी व्यक्ति को वंशानुगत  होती हे तो इसे Type 1 Diabities कहा जाता है | अगर आपके पिताजी या दादाजी को यह बीमारी पहलें से है तो आपको भी Diabities होने की संभावना बड सकती है ,Type 1 Diabities वंशानुगत चलती जाती है | अगर यह बीमारी किसी गर्भवती स्त्री को है तो उसके बच्चे को भी होने के संभावना रहती है |

Type 2 Diabetes

अब हम बात करते है Type 2 Diabetes  के बारे मै , ज्यादातर लोग टाइप 2 डायबीटीज से प्रभावित होते है  यह वंशानुगत तरीके से नहीं होती है, इसके होने के भिन्न-भिन्न कारण हो सकते है | इसक कारण आपकी अनियमित जीवनशैली हो सकती है , जैसे की ज्यादा जंक फ़ूड खाना या ज्यादा मात्रा में  कोल्ड ड्रिंक्स, चाय पीना व अन्य मीठी चीजो का सेवन करना | किसी भी प्रकार का शारीरिक कार्य ना करना , मानसिक तनाव में रहना ,पर्याप्त नींद नहीं लेना , नियमित व्यायाम ना करना , नशीले पदार्थ जैसे की धुम्रपान करना , तम्बाकू खाना या कई दुसरे नशे करना  |

Symptoms of Diabetes in Hindi

  • डायबिटीज के कारण रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है उस मात्रा को किडनिया नियंत्रित नहीं कर पाती है और इस कारण व्यक्ति को ज्यादा प्यास लगती है |
  • व्यक्ति के बार-बार पानी पीने के कारण उसका बार-बार पेशाब करना |
  • यदि आपका खान-पान अच्छा चल रहा है और आप खान-पान में सही आहार ले रहे है  उसके बावजूद भी आपका वजन अचानक से कम होने लग जाये तो यह भी एक Diabetes ke lakshan है |
  • शुगर लेवल बढ़ने के कारण अचानक से आपकी भूख बढ़ जाना भी शुगर का लक्षण है |
  • अगर शरीर में कोई चोट लगी है या कोई जख्म है तो उसका देरी से भरना यस उसके ठीक होने में अधिक समय लग जाना |
  • आँखों की रौशनी कम हो जाना या कम  दिखाई देना या धुंधला दिखाई देना |
  • व्यक्ति के स्वाभाव में चिडचिडापन आना या मानसिक तनाव महसूस करना |
  • शरीर में बार कही पर भी बार-बार फोड़े-फुंसी होना |
  • शरीर में थकावट या कमजोरी महसूस करना और कमजोरी के करना चक्कर आना |
  • हाथ पैर में जलन होना व दर्द होना |

Diabetes me kya kare kya na kare

अगर आप शुगर के मरीज है तो नियमित रूप से शुगर की जांच करवाए व अपने चिकित्सक के द्वारा बताई गयी दवाईयों का ही सेवन करे और हो सके तो अपनी रोजाना की दिनचर्या में व्यायाम या योग नियमित करे जिससे आपका शुगर लेवल कण्ट्रोल में रहेगा व आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी | अगर आप व्यायाम या योग नियमित रूप  से नहीं कर पा रहे है तो रोजाना कम से कम 1 की.मी. पैदल चले |

मधुमेह का एक बड़ा कारण मानसिक तनाव में रहने से भी होता है ,  तो आप इस बात का ध्यान  रखिये की आप किसी भी तरह का मानसिक तनाव न ले क्युकी अगर आपका शुगर लेवल बढ़ता हे या कम होता तो वह आपके मानसिक तनाव लेने की वजह से  होता है और जाता से ज्यादा तनाव मुक्त जीवन जिए | एक और महत्वपूर्ण बात बताना चाहूँगा यदी आपकी उम्र 30 वर्ष से अधिक है तो आप अपना नियमित रूप से स्वास्थ्य परिक्षण कराए जिसमे खून की शुगर का स्तर (A 1 c) और रक्तचाप के स्तर किन जांच कराए और आप अपने शुगर के लेवल का पूरा विवरण अपने पास रखे क्युकी आपको कभी भी अपने शुगर लेवल को दिन में एक या अधिक बार जांचने की आवश्यकता हो सकती है |

Yoga for Diabetes

  • कपालभाती प्राणायाम
  • सुप्त मत्स्येन्द्रासन
  • धनुरासन
  • पस्शिमोत्तानासना
  • अर्ध्मात्स्येंद्रसना
  • शवासन

Diabetes Diet in Hindi

दोस्तों, हम आपको बताना चाहेंगे की Sugar mein kya khana chahiye , और शुगर का संबंध सीधे आपके खाने पीने से रेहता है | अगर आप शुगर के मरीज है तो अपने Diet Plan का विशेष ध्यान रखे |तो चलिए अब हम आपको बताते है शुगर में क्या खाना खाना चाहिए और sugar me kya nahi khana chahiye |

  • आप अपने भोजन में ज्यादा से ज्यादा फाइबर युक्त भोजन का सेवन करे . जैसे – मक्का , दाल , चना , ज्वार , बाजरा , गेहूं , आदि |
  • आप अपने भोजन के साथ मिक्स आटे की रोटिया (चपातिया) खाए | आप गेहु के साथ 1-1 किलो जों और चने पिसवा से और उस आटे की बनी चपातिया खाए |
  • भोजन में आप सब्जियों का विशेष ध्यान रखे ,आप ज्यादा से ज्यादा करेला , मेथी , तुरई , लोकी ,  फुल्गोबी , मुली , टमाटर , पत्तागोभी , शलगम , बैंगन , टिंडा , सोया बड़ी , कला चना , हल्दी और फलदार सब्जिया जैसे – बिन्स , शिमला मिर्च , मटर , चंवलो आदि का सेवन करे |
  • शुगर के मरीज को ऐसे फलो का सेवन करना चाहिए जिससे कम मात्रा में शुगर हो जैसे – संतरा , ककड़ी , चुकंदर , पपीता , जामुन , निम्बू , आंवला , अमरुद का सेवन करे | शुगर मरीज को केले , अंगूर , आम , खजूर , आदि का सेवन नहीं करना चाहिए क्युकी इनमे शुगर की मात्रा अधिक पायी जाती है | आप सेवफल का उपयोग कर सकते है अपने चिकित्सक का परामर्श लेकर |
  • खाने मके हमेशा सलाद को शमिल करे |
  • आप ड्राई-फ्रूट का सेवन भी कर सकते है | जैसे – बादाम , काजू , अखरोट , मूंगफली के दाने  आदि |
  • अगर आप चाय , दूध या काफी पीते है तो उसमे चीनी का उपयोग न करे |
  • भोजन हमेशा पेट भरकर न करे उसे 3 या 4 हिस्सों में बटकर खाए |
  • दालो में मसूर की दाल का ज्यादा उपयोग करे इसमें आयरन अधिक मात्रा में होता है |जों शुगर के स्तर को बनाए रखता है |
  • आप बाजारों में मिलने वाले जंक फ़ूड का सेवन  ना करे|
  • भोजन के पश्चात् कम से कम दस मिनिट तक पैदल जरूर चले |
  • पानी  अधिक से अधिक पिए |
  • शुगर को कम करने के लिए अपने वजन पर ध्यान देवे |

इस तरह शुगर कम करने के लिए संतुलित भोजन योजना का पालन करे |

धन्यवाद् 🙂

Summary
Review Date
Reviewed Item
Sugar Kya Hai? (Diabetes in Hindi) - शर्करा उपचार (हिंदी में) | Hindi Solutions
Author Rating
51star1star1star1star1star
5 (100%) 3 votes

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *