url kya hota hai

URL Kya Hota Hai? URL से जुडी सारी जानकारी (हिंदी में)

नमस्ते दोस्तों, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग Hindisolutions में |आज हम आपको हमारे ब्लॉग में URL Kya Hota Hai ये कैसे काम करता और इसका उपयोग क्या हे आदि URL से सबंधित सारी जानकारी हम आप लोगो से share करेगे |
पिछली पोस्ट में हमने आपको Online Paise Kaise Kamaye के आसान तरीके बताये थ जिनकी मदद से आप घर बेठे पैसे कम सकते है | में आशा करता हु की आपको हमारी पिछली पोस्ट पसंद आई होगी |

तो द्सोतो जैसा की आज हम आपको URL के बारे जानकारी देने वाले है URL के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को शुरू से अंत तक पढ़ते रहिये |तो आइये अब शुरू करते है What is URL in Hindi के बारे में |

URL Kya Hota Hai

दोस्तों अगर आप इन्टरनेट surf करते है या आप intenet के बारे में जानते हे या उसका use करते हे तो इसमे कोई शक नहीं की आपने URL के बारे मे सुना होगा और सुनने के साथ साथ आपने इसको use भी किया होगा | जैसा की नाम से पता चलता है ये Web पर किसी Resources को Locate करने अथवा किसी भी Website को ढूंढने के काम मे आता है | URL का उपयोग  इंटरनेट पर वेब पृष्ठों (web page)  जेसे  http , फाइलों (ftp), ईमेल (mailto) , डेटाबेस(jdbc) इत्यादि तक पहुँचने के लिए किया जाता है| इनके पास पहुचने के लिए या यु कहे की इनको इन्टरनेट पर ढूंढने के लिए हमे URL की जरूरत होती हे |

URL का full form UNIFORM RESOURCES LOCATOR है  |

URL किसी Website तक पहुँचने के लिए एक Address होता है, जो आपको उस तक पहुचने में मदद करता है |

यदि आप किसी Website तक पहुंचना चाहते है तो आपको उस Website का URL पता होना चाहिए, लेकिन आपको Website का URL नहीं पता है तो आप किसी Website तक नहीं पहुँच सकते, किसी भी Website का नाम एक पते की तरह ही होता है |

URL किस पर काम करता है

url का काम हर जगह पर नही होता हे ये किसी ख़ास जगह पर हे काम क्र्त्सा है | URL सिर्फ Web Browser जैसे की  – Google Chrome, UC Browser, Internet Explorer , bing जेसे सर्च इंजन के द्वारा ही Access किया जा सकता है| और इन्ही पर इनका यूज़ होता है |

History of URL

सबसे पहले URL को सन 1914 में Tim Berner Lee ने Define किया था, यही इसके जनक कहे जाते हे इन्ही ने इसका इसे करना लोगो को सिखाया था | URL ने Sites के द्वारा बहुत से Option उपलब्ध किये है, विश्व में Web पर प्रत्येक Site का एक Unique URL होता है| सभी का एक अपना ip एड्रेस होता हे | जो की किसी भी

URL Website तक पहुँचने का एक आसान सा रास्ता होता है यदि आप किसी Website तक पहुंचना चाहते है तो आपको उस Website का URL पता होना जरुरी है|

जैसे की  https://www.hindisolutions.com  Website URL मे First Part ‘HTTP’ होता है जो की बताता है ‘HTTP’ Protocol को Use करना, जबकि Second Part “Www.hindisolutions.Com”  Resource (Domain Name) का नाम बताता है| जो की उस website का नाम होता है |

URL Kaise Kam Karta Hai

जब हम internet का यूज़ करते हे तो Internet पर प्रत्येक Website का एक अपना  Ip Address होता है,  जैसे  Www.Google.Com का Ip Address 64.233.167.99 है, हम अपने Browser में किसी Website का URL Type करते है तो हमारा Browser उस URL को Dns (Domain Name System) में बदल देता है और Website तक पहुँच जाता है जो हमने Search की थी| और वही जानकारी हमारे सर्च page पर दिखाई जात है | अगर हु url का उपयोग नही करते हे तो हमे जानकारी internet पर नही मिल पति है |

URL केसे बनता है

दोस्तों आपको यह हम बत्येगे की url का निर्माण केसे होता हे और यह किस तरह से बनता है | url 3 भागो में बंटा होता हे इन तीनो भागो का अलग अलग काम होता हे जेसे की   पहला भाग जो होता हे वह एक  Protocol Identifier होता है, जो यह बताता है की कौन सा Protocol Use हो रहा है | दूसरा भाग जो होता है वह एक Domain Name होता है जो यह बताता है की कौन से Server से Data मतलब Resource लाना है और उसका नाम क्या है जो भी नाम होता है वह उसी को identify करता हे और यूज़  हमारे सामने लाता हे | और अखरी तीसरा भाग Document का Path और Name बताता है| जिसके द्वारा हम उस website तक पहुचते है |

अब तक URL के बारे म जान गए होंगे | अब बात करते है Types of URL in HIndi की |

Types of URL

यह पर हम आपको url के कुछ प्रकार बतायेगे जिनके द्वारा आप इनके types को पहचान सकते है| नीचे कुछ types बताएं गये हे जेसे-

Messy URL

Messy URL में बहुत सारे Numbers और Letters होते है (alphabatic और numric ) दोनों  यह URL Computer द्वारा बनाये गए होते है इन्हें कोई व्यक्ति के द्वारा नही बनाया जाता हे | जो किसी समान Domain Name के लिए अधिक संख्या में Web Pages बनाते है |

Dynamic URL

यह URL किसी Database Query के End Results होते है | जो की ररल लिंक के बिच में यूज़ किये जाते हे जो Content Output Provide करते है जेसे  किसी Query के Result में Dynamic URL में ?,%,+,=, जैसे Character आते है इनका Use Consumer द्वारा Use में लाये गए Website में होता है |

Static URL

इस तरह के URL को Design करने के लिए html , java, और css का उपयोग किया जाता हे |  इस URL को Webpages Html Coding के साथ पूरी तरह से Hard Wire कर दिया गया होता है, Static URL कभी Change नहीं होते चाहे Users ने कुछ भी Request की हो| इन्हें किसी भी तरह से Change नही किया जा सकता है |

Conclusion

तो दोस्तों यह थी हमारी पोस्ट URL Kya Hota Hai | अब आप जान गये होंगे की url क्या है और यह किस तरह से काम करते हे आपको यह पोस्ट केसी लगी हमे जरुर बताये और आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो अपने दोस्तों से शेयर जरूर करे |

Thanks 🙂

Summary
Review Date
Reviewed Item
URL Kya Hota Hai? URL से जुडी सारी जानकारी (हिंदी में)
Author Rating
51star1star1star1star1star
Rate this post

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *