what is ipo in hindi

IPO क्या होता है इसमें निवेश कैसे किया जाये?

नमस्ते दोस्तों में आशा करता हु की आप सभी ठीक है स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग Hindisolutions में | आज हम आपको What is IPO in Hindi के बारे में बताने वाले है | पिछली पोस्ट में हमने आपको Chukandar ke Fayde के बारे म बताया था में उम्मीद करता हु आपके लिए हमारा Article मददगार रहा होगा |

दोस्तों आपने IPO का नाम शायद ही सुना होगा पर यदि सुना भी होगा तो आपको इसके बारे में कुछ जानकारी नहीं होगी इसलिए आज की इस पोस्ट में हम आपको IPO kya Hota Hai इसमें Invest किस तरह से किया जाता है इसके बारे में जानकारी देंगे | तो आइये शुरू करता की IPO Kya Hai |

What is IPO

दोस्तों IPO का मतलब Initial Public Offerings है। इसके लिए कंपनियां बकायदा शेयर बाजार में अपने को लिस्टेड कराकर अपने शेयर निवेशकों को बेचने का लोगो के सामने प्रस्ताव लाती हैं। कारोबार बढ़ाने या अपने दूसरे खर्चों को पूरा करने के लिए कंपनी कई तरीकों से रकम जुटाती है। पहली बार आम लोगों के बीच शेयर उतारने की प्रक्रिया IPO कहलाती है।

कई बार सरकार विनिवेश की नीति के तहत भी आईपीओ लाती है। ऐसे में किसी सरकारी कंपनी में कुछ हिस्सेदारी शेयरों के जरिए लोगों को बेची जाती है | IPO लाने के लिए कंपनी पहले मर्चेंट बैंकर के पास जाना होता हे और वह कंपनी की पूरी इनफार्मेशन , फाइनेंसियल और प्रमोटर कोन कोन से हे वो सब देना होता हे फिर मर्चेंट बैंकर को IPO के लिए SEBI से Approval लेना होता हे, फिर सेबी सबकुछ चेक करती हे और उन्हें सही लगता हे फिर ही IPO अप्रूवल आता हे.| अन्यथा नही लिया जा सकता है | यह पूरी प्रक्रिया कानूनी रूप से रूप से पूरी होती है | और इस तरह से market में IPO लाया जाता है |

IPO की price केसे तय होती है

दोस्तों आप सोच रहे होंगे की इनकी कीमत कम्पनी अपने मन माने ढंग से तय करती होगी परन्तु ऐसे नही होता है इसकी कीमत दो तरह से तय होती है। पहला Price Band ( price band) दूसरा फिक्स्ड प्राइस इश्यू ( fixed priced issue )

Price Band (Price Band of IPO)

ज्यादातर कंपनियां जिन्हें आईपीओ लाने की इजाजत है, अपने शेयरों की कीमत तय कर सकती हैं। लेकिन इन्फ्रास्ट्रक्चर और कुछ दूसरी क्षेत्रों की कंपनियों को SEBI और बैंकों को रिजर्व बैंक से अनुमति लेनी होती है। कंपनी का बोर्ड ऑफ डायरेक्टर Broker के साथ मिलकर Price Band तय करता है। भारत में 20 फीसदी Price Band की इजाजत है। इसका मतलब है कि बैंड की अधिकतम सीमा फ्लोर प्राइस से 20 फीसदी से ज्यादा ऊपर नहीं हो सकती है। मान लीजिये की sema flor price 1000 है तो उसकी कीमत 200 रूपए से ज्यादा नही हो सकती है |

Fixed Price Issue

इसके अन्दर पहले से ही IPO की कीमत तय होती हे इसमें किसी भी प्रकार से कम ज्यादा नही होती है

बैंड प्राइस तय होने के बाद निवेशक किसी भी कीमत के लिए बोली लगा सकता है। उसके हिसाब से बोली लगाने वाला cut off  बोली भी लगा सकता है। इसका मतलब है कि अंतिम रूप से कोई भी कीमत तय हो, वह उस पर इतने शेयर खरीदेगा। बोली के बाद कंपनी ऐसी कीमत तय करती है, जहां उसे लगता है कि उसके सारे शेयर बिक जाएंगे। इसके बाद ही IPO को लोगो को दिया जाता है |

कंपनियां IPOक्यों लाती है

यह तक तो आपने समझ लिया की IPO क्या होता है अब हम आपको बतायगे की कम्पनी IPO क्यू लती है दोस्तों ज्यादातर कंपनियां पूंजी जुटाने के लिए IPO लाती हैं। चाहे सरकारी हिस्सेदारी बेच रही हो या फिर बैंक या कंपनी IPO ला रही हो, सबके पीछे पैसे इकट्ठा करने का मकसद होता है। क्युकी हर एक कंपनी को पेसे की बहुत जरूरत होती है और वह अपने व्यापर को और बढ़ाना चाहती है इसके लिए उन्हें ज्यादा मात्र में पैसा मार्किट में इन्वेस्ट करना पड़ता है इसके लिय वो IPO निकलती है |

IPO की समीक्षा करते वक्त जरूरी है कि कंपनी क्यों पूंजी जुटाना चाहती है। कंपनी बाजार की मजबूती को भुनाने के लिए ही इश्यू ला सकती है। ऐसे IPO से दूर रहना ही निवेशकों के लिए बेहतर होगा। लेकिन, अगर कंपनी विस्तार योजनाओं के लिए या नई इकाइयां शुरू करने के लिए पैसा इकट्ठा कर रही हो, तो निवेशक कंपनी के इश्यू में पैसा लगा सकते हैं। और अच्छा खासा पैसा कमा सकते है |

IPO में निवेश से पहले इन बिंदुओं पर गौर करे

दोस्तों अगर आप IPO करीदना कहते हो तो कुछ बातो का विशेष रूप से ध्यान रखे जेसे की –

  • कंपनी का प्रदर्शन
  • इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स की रेटिंग
  • इश्यू प्राइस
  • भविष्य को लेकर कंपनी की रणनीति
  • कंपनी के IPO प्रोस्पेक्टस को पढ़ें

IPO का उदेश्य

  • कंम्पनी का LOSS PROFIT STRUCTUR
  • कंपनी का ragistration आदि

Conclusion

तो दोस्तों आपको हमारी पोस्ट What Is IPO in HIndi कैसी लगी हमे कमेंट बॉक्स में Comment करके जरूर बताये |

Summary
Review Date
Reviewed Item
IPO क्या होता है इसमें निवेश कैसे किया जाये?
Author Rating
51star1star1star1star1star
Rate this post

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *